सिम कार्ड स्वैप क्या है और इससे क्या-क्या फ्रॉड कर सकते है

सिम कार्ड स्वैप क्या है और इससे क्या-क्या  फ्रॉड कर सकते है 

                                                                  image copyright
नमस्कार दोस्तों आज एक बार फिर हम आपके बीच उपस्थित है एक नए तथ्य के साथ जो आपको क्या किसी को भी पता नहीं होगा की आखिर सिम स्वैप कैसे करते है और इसका क्या-क्या दुरूपयोग कर सकते  है और लाखो करोडो का घोटाला कर सकते है जिस हमारे साथ-साथ वो गरीब जनता और देश को नुकसान पहुँच सकते है और यूज़र को पता नहीं नहीं लगता है की उसके सिम कार्ड से ऐसा सब कुछ हो गया है और हाल ही में ऐसा ही कुछ मामला सामने आया की सिमकार्ड शॉपिंग की मदद से एक बिजिनेसमैन के करोड़ो रुपये चोरी कर दिए गए है ये सब चीजे आपके साथ भी कभी भी किसी भी समय हो सकती है ऐसे में आपको कैसे सावधान रहना है आइयें विस्तार से इसके बारे में जानते है ।

एक बिजिनेस में के साथ  क्या हुआ जिससे उसके करोड़ो रुपए चोरी हो गए -

आइये जानते है सिम कार्ड स्वैपिंग के बारे में तो उस आदमी को रात को एक फोन कॉल आया था और उसने अपने फोन को चेक किया तो उस नंबर से उस के मोबाइल पे 6 मिस कॉल थे और जब नंबर को चेक किया गया तो वो नंबर (UK) यूनाइटेड किंगडम यानि विदेशी नंबर थे +44 जिस पे उसने वापस कॉल किया तो कॉल नहीं जा रही थी और उनका जो नंबर था वो ब्लॉक या डिएक्टिवेट था इस जानकारी के लिए उसने ग्राहक सेवा को फोन किया तो उन्होंने बताया की आपके कहने पे ही आपका नंबर डिएक्टिवेट किया गया है यानि की ब्लॉक कर दिया
 इसके बाद और जानकारी प्राप्त करने के बाद पाया की उस बिजिनेस में के अकाउंट से करोड़ो रूपये चोरी हो गए ।

आखिर ये सिम कार्ड स्वैप क्या है और इससे कैसे बचा जा सकता है-


सिम स्वैप कार्ड स्वैप क्या है - सिम कार्ड स्वैप यानि अभी आपके पास जो भी सिम कार्ड है उस सिम कार्ड को ब्लॉक करना या डिएक्टिवेट करना और उसी सेम नंबर पे  एक नई सिम कार्ड बनाना है या दूसरी सिम कार्ड एक्टिव करना सेम उसी मोबाइल नंबर से इसे ही सिम स्वैप कहते है इसकी मदद से हैकर आपकी  फ़िलहाल जो भी सिम कार्ड उपयोग कर रहे है उसे ब्लॉक कर देता है या बंद कर देता है और उसके बाद एक नए सिम कार्ड में उस नंबर को ले लेता है जिसके बाद आपके नंबर का हैकर के पास पूरा कट्रोल रहता है और उसके बाद आपके नंबर पे कोई भी ओ टी पी  (OTP) या कोई  मेसेज आपके पास नहीं आएगा वो पूरा डेटा हैकर के पास चला जायेगा जिसकी मदद से वो आपके अकाउंट से आपके पैसे चोरी कर लेता है और आपको कानो कान खबर भी नहीं रहती है  इसकी मदद से हैकर जो भी ऑनलाइन फ्रॉड या धोखे बाजी होती है वो बड़े ही आसानी से कर सकता है।

इससे बचने के लिए आपको को छोटे छोटे इनफार्मेशन का ध्यान रखना होगा-

1. अपनी पेसोनाल जानकारी या असली नाम पता और कॉल के जरिये किसी को भी ओ टी पी  (OTP)  ये सब नहीं बताये।

2. आपका पर्सनल मोबाइल नंबर जो बैंक से लिंक है या कोई भी जरुरी डॉक्यूमेंट सोशल मीडिया परअपलोड नहीं करे इससे हैकर्स आपका पता निकाल कर आपके सिम कार्ड को स्वैप कर सकते है।

3. किसी भी (SMS)  या ईमेल आने पर उसे फॉलो न करें और ना ही इसमें आये किसी लिंक पे क्लिक करें और किसी भी तरह के कोई भी स्टेप फॉलो न करें।

4. किसी भी ऐप या वेब साइट जिनकी शुरुआत में https न हो उसमे आपने पर्सोनल डेटा न भरे।

5. जब भी आपको को कॉल आये और आपको ऑफर दे तो उस कॉल को तुरंत काट दे ।

Comments

Popular posts from this blog

आखिर आपके मोबाइल में क्या खराबी ऐसे पता करें

पुराने से भी पुराने मिटाये डाटा को रिकवर करें

क्या एक खराब मेमोरी कार्ड को ठीक किया जा सकता है